Showing 4 Result(s)
best poem on rain
HINDI KAVITA HOME

Kavita on varsha ritu \ poem on rainy season

रिम झिम की लग गई छड़ी रे इन्द्र की घूम गई छड़ी रे आई आई सावन रुत आई रे नभ में घटा फिर छाई रे गा रही सखियाँ मिलन के गीत रे पड गए झूले , मिले मनमीत रे गोरी के दिल में जागी है प्रीत रे निभाएंगे मिलकर प्रेम की रीत रे बारिश का …

ek naya bharat kavita
HINDI KAVITA TRENDY THOUGHTS

Ek naya Bharat

चारों तरफ है हा हा कार कहीं आग कहीं लूटमार कहीं दंगो की मारा मार कहीं नेताओं के भ्रष्टाचार स्वर्णचीड़ी की बदली सूरत यह कैसी भारत की सूरत नेताओं ने किया गुनाह्ह फिर भी जेलों मैं मौज अतः भ्रष्टाचार की वाह वाह पैसा है अफसर की छह आजादी की लुट गयी पद ये कैसी भारत …

Corona ka aatank
HINDI KAVITA HOME

Corona ka aatank

कोरोना ( कविता ) कोरोना कोरोना आई महामारी , कोरोना की मारी यह दुनिया सारी| -२ कहाँ से तू आई , कैसे तू आई | सारे जग मैं तूने आफत मचाई | सबको सताया तूने, सबको रुलाया, जाने की अब तू करले तैयारी | कोरोना कोरोना आई महामारी , कोरोना की मारी यह दुनिया सारी| …

maa mamta aur darr
HINDI KAVITA MOTIVATIONAL THOUGHTS TRENDY THOUGHTS

Maa ,Mamta aur Darr

एक माँ बच्चे को जनम देने के पेहेले नौ महीने तक उसे अपने अन्दर महसूस करती है , तरह-तरह के ख्वाब बुनती है |सपने देखती है मेरा बच्चा कैसा होगा |मैं उसके लिए ऐसा करुँगी वैसा करुँगी |मन ही मन वह उस बच्चे से प्यार करने लगती है |अब जब कुछ समय बाद बच्चा जनम …