Showing 6 Result(s)
true hindi story
Uncategorized

Vo aakhiri shabd – True story in hindi based on a child .

हमारे एक परिचित पति पजीवन का हर सपना ही त्नी है जिनकी शादी को कुछ ही समय हुआ था | दोनों के बीच बेईम्तहा प्यार था | एक दुसरे को दोनों अच्छी तरह समझेते थे | सही माइने में वे आदर्श दम्पति थे | शादी के कुछ ही समय बाद उनके यहाँ एक प्यारा सा …

karmo ka hisaab
Uncategorized

Sukh dukh ke jimmedaar hum khud- Karmo ka hisaab\fal\account

सुख दुःख मनुष्य के जीवन में श्रृष्टि का एक ऐसा चक्र है जो अनवरत घूमता रहता है | हर महुष्य को कभी सुख और कभी दुःख की अनुभूति होती रहती है जैसे रात के बाद दिन , दिन के बाद रात , जनम के बाद मृत्यु और मृत्यु के बाद फिर से जीवन | इसी …

Education should not be forced
HINDI STORIES HOME MOTIVATIONAL THOUGHTS

Education should not be forced to kids-Tittle of the story – Tumhe padhna hi hoga..

अक्सर हम देखते हैं की बच्चे पढाई से बहुत जी चुराते हैं और हर माता पिता यह चाहते हैं कि मेरा बच्चा खूब पढ़े , खूब पढ़े और पढ़ लिखकर कुछ बने | कुछ ऐसा करे जिससे उनका नाम हो |रवि भी पढाई से जी चुराने वाला बच्चा था | वह पढने से बहुत कतराता …

How to develop good habits in kids
HINDI STORIES MOTIVATIONAL THOUGHTS

Good habits in kids. How to develop good habits in kids..??

बच्चों को जनम देकर और पाल पोसकर ही माँ बाप का कर्त्तव्य पूरा नहीं हो जाता | बच्चों मैं अच्छे संस्कार देना भी माँ बाप का काम है | उन्हें एक जिम्मेदार नागरिक बनाकर देश और समाज को सोंपना है इसीलिए माँ बाप को शुरू से ही ऐसी योजना बनानी चाहिए जिससे बच्चे को प्यार …

Story for middle class people
Uncategorized

Haaye ri sharm( Story based on Middle class people)

यह मिडिलक्लास जो लोग लाज के भय से हमेशा पिस्ता रहता है , सहता रहता है | पता नहीं भगवान् ने इस मध्यवर्ग को किस मिटटी से बनाया है , जो समाज की सारी शर्म इन्ही के पल्ले मैं आ गयी है |अपनी हैसियिअत से बढ़कर यह मध्यवर्ग सारे काम करना चाहता है |सामाज मैं …

Uncategorized

Best motivationalstory “Bhakti ki Shakti”

भक्ति अपने आप मैं एक सम्पूर्ण शक्ति है | इसके विषय में जितना भी लिखा जाए कम है | भक्ति एक सागर के समान है इसमें जो जितना गहरा डूबेगा उतना ही निखर कर आएगा | सागर का जल हम अपने सामर्थ्य के अनुसार ग्रहण कर पाते हैं | यह सागर तो अथा है | …