Showing 2 Result(s)
lado ki kahani
HINDI KAVITA HOME

Meri lado ki kahani ( an article on daughter)

बेटी बन दुनिया में आई | मात पिता की लड़ो कहलाई |और ये लड़ो कब पराया धन बन जाती है पता ही नहीं चलता | होश सँभालते ही स्चूली शिक्षा के साथ एक क्लास घर में भी चलती रहती है | बेटी तो पराया धन होती है | बेटी का उठना बैठना ऐसा होना चाहिए …

jeevan ek kala
Uncategorized

Jeevan ek kala ( Best poetry on life )

जिंदगी कहती है यह जीवन तेरा है अनमोल इसे व्यर्थ न जाने दे कुषार्थ के दरवाजे खोल जीवन जीना एक कला है कला ही बनती है पहचान जो इस कला से है वाकिफ खुशियों से नहीं वो अनजान जीवन की हर ख़ुशी हर गम में संग रहें हम अपने कर्म के सूरज की तरह , …